लेडी डॉन ने पुलिस पर लगाया आरोप…..‘रात भर मुझे सोने नहीं दिया’!

सूरत। लेडी डॉन अस्मिता और उसके साथियों को पुलिस ने अरेस्ट कर उन्हें कोर्ट में पेश किया। दूसरी ओर, भूरी ने आराेप लगाया है कि पुलिस ने मुझे काफी परेशान किया है, मेरे लिए अपशब्दों का प्रयोग किया है। इतना ही नहीं, मुझे रातभर सोने भी नहीं दिया।नंगी तलवार लेकर मचाया था आतंक…

अस्मिता उर्फ भूरी ने 21 मई को वराछा के मातावाड़ी-लाभेश्वर इलाके में साथियों के साथ कई स्थानों पर तलवार लेकर हंगामा किया था। उस दिन उसने एक दुकानदार से रुपए लिए थे। दोपहर में एक लड़के से बाइक लूटकर उसे धमकी दी थी। डाई बनाने वाले कारखाने में घुसकर तोड़फोड़ भी की थी।

दो अपराधों में आया नाम…

पहले बाइक लूटने के मामले में पुलिस ने भूरी को अरेस्ट किया था। इसमें उसका साथी अल्पेश उर्फ कालिया भी था। बीमलेश भैयालाल नामदेव नामक दुकानदार को लूटने के मामले में उसका साथी राहुल उर्फ प्रकाश गोदो शामिल था। वराछा पुलिस ने इस मामले में भूरी और राहुल को अरेस्ट किया था।

रात को पुलिस ने परेशान किया…

इस मामले में पुलिस ने भूरी-राहुल को कोर्ट में पेश किया, तब भूरी ने मीडिया से कहा कि रात में उसे पुलिस ने काफी परेशान किया। उसे अपशब्द कहे, देर रात तक उसे सोने भी नहीं दिया। आखिर में उसने यह भी कहा कि अब बहुत हो गया, वह सुधरना चाहती है।

कुल 7 मामले दर्ज हैं…

ग्लैमरस लाइफ जीने की शौकीन वराछा-कापोद्रा में लेडी डॉन के रूप में पहचानी जाने वाले अस्मिता उर्फ भूरी ने खुलेआम तलवार लेकर आतंक मचाया था। पिछली दीवाली के समय चर्चा में आई भूूरी के खिलाफ 7 मामले दर्ज हैं।

सनसनीखेज है भूरी का अतीत…

भास्कर ने युवती के पिछले जीवन की परतों को निकाला तो कई सनसनीखेज बातें सामने आई हैं। अस्मिता को महंगी गाड़ियों और बंदूक, पिस्तौल जैसे हथियारों का शौक है। फैशन आइकन की लाइफस्टाइल रखने वाली अस्मिता की इस गुंडागर्दी के पीछे उसके ब्वाॅयफ्रेंड संजय भूरा का हाथ माना जा रहा है। संजय जब हत्या के आरोप में जेल गया तो उसके बाद उसकी वसूली की विरासत को संभालने के लिए भूरी खुलकर गुंडागर्दी करने लगी। संजय के खिलाफ पासा समेत कई मामले दर्ज हैं। कक्षा आठ में पढ़ने के दौरान ही भूरी उर्फ अस्मिता लड़कों से ज्यादा दोस्ती करने लगी थी ।

बचपन से रहती है टॉम ब्वॉय की तरह

शुक्रवार को कोर्ट में पेशी के दौरान अस्मिता ने मीडिया को कह दिया कि न तो वह डॉन है और न बनने का शौक है। वायरल हुए वीडियो में भी वह नहीं है। सोमनाथ जिले की उना तहसील के गांगड़ा गांव की रहने वाली 19 वर्षीय अस्मिता छह भाई बहनों में सबसे बड़ी है। वह जब 8 वीं में पढ़ती थी, तभी से उसे टॉम ब्वॉय की तरह रहना पसंद था। उसके दोस्त भी ज्यादातर लड़के ही थे। उसकी हरकतों से परेशान पिता ने उसे डेढ़ साल पहले सूरत में चाचा के पास भेज दिया।

चाचा के घर भी नहीं रह पाई

लड़कों से दोस्ती के कारण वह ज्यादा दिन चाचा के घर भी नहीं रह सकी और एक युवक के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रहने लगी। कुछ दिन वह अपनी एक सहेली के साथ रही। इसी दौरान उसकी दोस्ती संजय भूरा, अल्पेश और राहुल धोदा के साथ हुई। वह सबसे पहले वह दीपावली के दौरान चर्चा में तब आई, जब वह मारपीट के मामले में कापोद्रा थाने में आरोपी बनाई गई थी। इसके बाद वराछा में हथियार रखने के मामले में उस पर जीपी एक्ट 135 के तहत आरोप दर्ज किया गया था। सोशल साइट पर भी ग्लैमरस फोटो अपलोड करती है। दोस्तों के साथ बाइक पर घूमती रहती है। वराछा मेंं इसके विरुद्ध रायोटिंग और दो लूट की शिकायतें दर्ज हैं।